Diwali 2018: अंधकार पर प्रकाश की जीत का पर्व दीपावली, लक्ष्मी पूजन का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि

दीपावली शब्द का अर्थ है: दीपों की माला या दीपों की अवली (श्रृंखला) | इसे दिवाली भी कहा जाता है | इस वर्ष (Diwali 2018), 07 नवंबर को मनाई जाएगी | यह महागणपति , महालक्ष्मी एवं महाकाली की पौराणिक अथवा तांत्रिक विधि से साधना-उपासना का परम पवित्र पर्व है। इस दिन उद्योग-धंधे के साथ-साथ नवीन कार्य […]

MahaNavami 2018: माँ सिद्धिदात्री की पूजा, मंत्र व महत्व, कन्या पूजन का शुभ मुहूर्त

Sharad Navratri is the most significant of the four Navratris, this year it started on October 10, 2018. Mahanavami falls on the ninth and last day of the Navratri festival. This year, MahaNavami 2018 will be observed on October 18, 2018. आश्विन शुक्ल पक्ष नवमी के दिन दुर्गा के नवमे स्वरूप के रूप में माँ सिद्धिदात्री […]

तीसरा नवरात्र का महत्‍व- माँ चंद्रघंटा को प्रसन्न करने का मंत्र, पूजा विधि, भोग व आरती

माँ दुर्गा की नौ शक्तियों की तीसरी स्वरूप माँ चंद्रघंटा की नवरात्री के तीसरे दिन अर्चना की जाती है| Maa Chandraghanta is worshipped on the third tithi (day) of Navratri that is on October 11, 2018.  माँ दुर्गा का तीसरा स्वरूप (अवतार) चंद्रघंटा हैं। अपने मस्तक पर घंटे के आकार के अर्धचन्द्र को धारण करने […]

Margashirsha Amavasya 2019: पितृ दोष दूर करने के लिए क्या करे? जानिए मार्गशीर्ष अमावास्या व्रत, पूजा विधि व महत्व

Margashirsha Amavasya 2019: भगवान ​श्री​कृष्ण के ​प्रिय मार्गशीर्ष महीने की अमावस्या को मार्गशीर्ष अमावस्या कहते हैं। इस अमावस्या को अगहन अमावस्या या श्राद्धादि अमावस्या के नाम से भी जाना जाता है, जिसका महत्व अत्यधिक माना गया है। मार्गशीर्ष माह में मां लक्ष्मी की विशेष पूजा होती है। Margashirsha Amavasya 2019, 26 नवंबर दिन मंगलवार को है। […]

Amla Navami 2019: भगवान विष्णु और शिव की कृपा के लिए करें आंवले के पेड़ की पूजा, जानिए आंवला (अक्षय) नवमी पूजा विधि, कथा व महत्‍व

Amla Navami 2019: कार्तिक मास  के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को आंवला नवमी मनाई जाती हैं। इसे बहुत से लोग अक्षय नवमी भी कहते हैं। इस बार ये पर्व (Amla Navami 2019) 5 नवंबर, मंगलवार को है। यह प्रकृति के प्रति आभार व्यक्त करने का भारतीय संस्कृति का पर्व है। मान्यता है कि इस दिन महिलाएं संतान प्राप्ति […]

Dhanteras 2019: धन लाभ के लिए धनतेरस के दिन इस शुभ मुहूर्त पर करें खरीददारी और उपाय, जानिए क्या खरीदें क्या ना खरीदें?

हिंदू कैलेंडर के कार्तिक महीने की तेरस (तेरहवें दिन) को धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है। इस साल (Dhanteras 2019) धनतेरस 25 अक्‍टूबर शुक्रवार के दिन मनाया जाएगा। पांच दिवसीय दीपोत्सव की शुरुआत धनतेरस से हो जाती है। इसके बाद नरक चौदस (छोटी दीपावली), महालक्ष्मी पूजन (दिवाली), गोवर्धन पूजन और भाईदूज (भैया दूज) के साथ […]

Rama Ekadashi 2019: कब है रमा एकादशी व्रत? जानें शुभ तिथि, पूजन विधि, कथा व महत्‍व

Rama Ekadashi 2019: कार्तिक मास के कृष्णपक्ष की एकादशी को रमा एकादशी के नाम से जाना जाता है। यह व्रत भगवान श्री कृष्ण को समर्पित है। रमा एकादशी दिवाली के त्‍यौहार के चार दिन पहले आती है। इस साल Rama Ekadashi 2019, 24 अक्टूबर को है। मान्यता के अनुसार, इस व्रत के प्रभाव से सभी पाप […]

Sharad Purnima 2019: जानिए शरद पूर्णिमा महत्‍व, शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और अमृत वाली खीर की परंपरा

आश्विन माह के शुक्लपक्ष की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा कहा जाता है। Sharad Purnima 2019, 13 अक्‍टूबर रविवार को है। शरद पूर्णिमा का हिंदू धर्म में खासा महत्‍व बताया गया है। माना जाता है कि इस रात को चंद्रमा से अमृत बरसता है। इसे कोजागर पूर्णिमा, रास पूर्णिमा, कौमुदी व्रत के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन […]

Jaljhulni Ekadashi 2019: जानिए जलझूलनी (डोल ग्यारस) एकादशी महत्व, व्रतकथा

Jaljhulni Ekadashi 2019: भाद्रपद माह में शुक्ल पक्ष एकादशी को जलझूलनी एकादशी, पार्श्व एकादशी, वामन एकादशी, पद्मा एकादशी, परिवर्तिनी एकादशी, डोल ग्यारस आदि कई नामों से जाना जाता है। इस साल जलझूलनी एकादशी का व्रत आज यानी 09 सितंबर को है। मान्यता है स्वर्ग के देवी-देवता भी इस एकादशी का व्रत रखते हैं। यह एकादशी सर्व-सुख , पुण्य, मोक्ष को देने […]

Bachh Baaras 2019: बछ बारस महत्व, पूजा विधि, पूजन की सामग्री और कथा

Bachh Baaras 2019: बछ बारस का पर्व जन्माष्टमी के चार दिन पश्चात भाद्रपद महीने के कृष्ण पक्ष की द्वादशी तिथि के दिन मनाया जाता है| इस दिन गाय और उसके बछड़े की पूजा की जाती है। बछ बारस  को गौवत्स द्वादशी, वत्स द्वादशी और बच्छ दुआ भी कहते हैं। यह पर्व को मनाने का उद्देश्य गाय व बछड़े (गाय के छोटे बच्चे) का महत्त्व समझाना है। […]