Holi 2020: होली में रंगों का महत्व, त्वचा से रंगों को हटाने के आसान तरीके

Holi 2020: रंगोत्सव होली का त्योहार..प्यार का त्यौहार..गिले शिकवे भूल सब पर प्यार लुटाने का त्यौहार। Holi, a Hindu spring festival of love, frolic, and colors will be celebrated on March 10, 2020, next day of Holika Dahan (होलिका दहन). Holi festival provides an occasion to reset and renew ruptured relationships, end conflicts and rid themselves […]

Holi 2019: होली के रंगों का महत्व, त्वचा से हटाने के आसान तरीके

Holi 2019: रंगोत्सव होली का त्योहार..प्यार का त्यौहार..गिले शिकवे भूल सब पर प्यार लुटाने का त्यौहार। Holi, the festival of colours is here, will be celebrated on March 21, 2019 next day of Holika Dahan, March 20, 2019. We all wait for it the whole year so that we can enjoy those Gujiyas, Thandai, Mithai (Sweets), Gulal and […]

Holika Dahan 2019: होली पूजा विधि, शुभ मुहूर्त, मन्त्र और महत्व

Holika Dahan 2019: फाल्गुन माह की पूर्णिमा को होली (Holi) का त्योहार मनाया जाता है। होली सिर्फ रंगों का ही नहीं एकता, सद्भावना और प्रेम का प्रतीक भी माना जाता है। होली में रंगों के साथ-साथ होलिका दहन (Holika Dahan) की पूजा का भी खास महत्व है। बुराई पर अच्छाई की जीत का त्योहार, होली इस […]

Sheetala Ashtami 2023: क्यों खाया जाता है शीतला अष्टमी पर ठंडा व बासी खाना? जानिए शीतला अष्टमी पूजन विधि व बसौड़ा पर्व का महत्व

Sheetala Ashtami 2023: शीतला अष्टमी का पर्व होली के आठ दिन बाद चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता हैं। इस साल Sheetala Ashtami 2023, 15 मार्च budhwar के दिन हैं। कुछ लोग शीतला सप्तमी (24 मार्च) भी पूजते हैं। शीतला अष्टमी पर शीतला माता का पूजन किया जाता है और बसौड़ा […]

Sheetala Ashtami 2023: क्यों मनाया जाता है शीतला अष्टमी पर्व? जानिए शीतला माता के स्वरूप का अर्थ, शीतला अष्टमी व (ठंडा) बसौड़ा का महत्व

Sheetala Ashtami 2023: शीतला अष्टमी का पर्व चैत्र मास कृष्ण पक्ष अष्टमी को मनाया जाता हैं। इस साल Sheetala Ashtami 2023, 15 मार्च बुधवार के दिन हैं। कुछ लोग शीतला सप्तमी भी पूजते हैं। शीतला अष्टमी पर शीतला माता का पूजन किया जाता है और ठंडा (बसौड़ा) का प्रसाद लगाया जाता है। शीतला सप्तमी और […]

Dasha Mata Vrat 2022: क्यों किया जाता हैं दशा माता व्रत? जानिए दशामाता पूजन विधि, महत्व और व्रत के नियम

Dasha Mata Vrat 2022: दशा माता का व्रत चैत्र (चेत) महीने के कृष्ण पक्ष की दशमी तिथि के दिन किया जाता है। दशा माता का व्रत, घर-परिवार के बिगड़े ग्रहों की दशा या परिस्थिति अनुकूल बनी रहे, ऐसी कामना के साथ किया जाता है। दशा माता यानि माँ भगवती की पूजा और व्रत करके महिलायें गले में […]

Sheetala Ashtami 2022: क्यों खाया जाता है शीतला अष्टमी पर बासी खाना? जानिए शीतला अष्टमी पूजन विधि, शीतला माता के स्वरूप के प्रतीकात्मक अर्थ, व बसौड़ा पर्व का महत्व

Sheetala Ashtami 2022: शीतला अष्टमी का पर्व होली के आठ दिन बाद चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता हैं। इस साल Sheetala Ashtami 2022, 25 मार्च शुक्रवार के दिन हैं। कुछ लोग शीतला सप्तमी (24 मार्च) भी पूजते हैं। शीतला अष्टमी पर शीतला माता का पूजन किया जाता है और बसौड़ा का […]

Amalaki Ekadashi 2022: क्यों की जाती है आंवले के वृक्ष की पूजा? जानिए आमलकी एकादशी व्रत-पूजा विधि, नियम, पावन व्रत कथा और महत्व

Amalaki Ekadashi 2022: फाल्गुन महीने की शुक्ल पक्ष एकादशी, आमलकी एकादशी के नाम से जानी जाती है। आमलकी का अर्थ होता है आंवला। आंवले को हमारे धर्मग्रंथों में अमृत तुल्य पवित्र फल माना जाता है। भगवान विष्णु और आंवले के वृक्ष की इस दिन पूजा-अर्चना करने का विधान है। शास्त्रों के अनुसार इस दिन आंवले का उपयोग […]

Holashtak 2022: कब लगेंगे हाेलकाष्टक; क्यों माना जाता है इसे अशुभ और नहीं किए जाते कोई मांगलिक कार्य? जानिए इन दिनों में अपने लाभ के लिए क्या करें क्या न करें

Holashtak 2022: हिंदू धर्म में होली पर्व का विशेष महत्व है। होली फाल्गुन मास की पूर्णिमा तिथि को मनाई जाती है, लेकिन फाल्गुन मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि से होलाष्टक (हाेलकाष्टक) लग जाता है। होलाष्टक का मतलब है होली से पहले के आठ दिन (फाल्गुन शुक्ल अष्टमी से होलिका दहन यानि फाल्गुन पूर्णिमा […]

Gangaur Puja 2021: सौभाग्य के लिए किया जाता है गणगौर पूजन, जानिए गौरी तीज मान्यता, शुभ मुहूर्त, गणगौर पूजा विधि और कथा

Gangaur Puja 2021: हिन्दू धर्म में चैत्र महीने की शुक्ल पक्ष की तृतीया का दिन गणगौर पर्व के रूप में मनाया जाता है। गणगौर लोकपर्व होने के साथ-साथ रंगबिरंगी संस्कृति का अनूठा उत्सव है। गणगौर पूजा चैत्र मास के कृष्ण पक्ष प्रतिपदा तिथि से आरम्भ की जाती है। इसमें कन्याएं और विवाहित स्त्रियां मिट्टी के शिव […]