Magh Gupt Navratri 2019: माघ गुप्त नवरात्रि पूजा विधि, शुभ मुहूर्त, महत्व, Magh Gupt Navratri 2019 Dates, गुप्त नवरात्र पूजा विधि, गुप्त नवरात्र Mahatva, गुप्त नवरात्रि  में 10 महाविद्याओं की होती है पूजा,
Culture Festivals

Magh Gupt Navratri 2019: जानिए क्या है माघ गुप्त नवरात्रि, पूजा विधि, महत्व


Magh Gupt Navratri 2019 Date: नवरात्र (Navratri) यानि मां भगवती के नौ रूपों, नौ शक्तियों की पूजा के वो दिन जब मां हर मनोकामना पूरी करती है। हिंदू कैलेंडर के मुताबिक हर साल चैत्र और शारदीय नवरात्र होते हैं जिनमें लोग पूरी श्रद्धा के साथ घट स्थापना करते हैं लेकिन इन दोनों नवरात्रि के अलावा दो और नवरात्रि आते हैं – ये गुप्त नवरात्रि हैं, एक माघ महीने में और दूसरा आषाढ़ महीने में। यह चारों ही नवरात्र ऋतु परिवर्तन के समय मनाए जाते हैं।

शक्ति की साधना के लिए चैत्र या वासंतिक नवरात्र एवं आश्विन या शारदीय नवरात्र के बारे में हम सभी जानते हैं लेकिन इसके अलावा भी साल में दो बार एक विशेष कालखंड में तमाम तरह की मनोकामनाओं की पूर्ति और सिद्धि, धन, ऐश्वर्या, सुख, शांति के लिए मां जगदंबे की साधना-आराधना की जाती है। जिसे गुप्त नवरात्रि कहा जाता है। इस दौरान रात के समय मां दुर्गा की गुप्त पूजा की जाती है।


इन नवरात्रि की पूजा विधि चैत्र और शारदीय नवरात्रि से बिल्कुल अलग होती है। सामान्य नवरात्रि में आमतौर पर सात्विक और तांत्रिक पूजा दोनों की जाती है, वहीं गुप्त नवरात्रि में ज्यादातर तांत्रिक पूजा की जाती है।

वही अब माघ महीना चल रहा है लिहाज़ा साल 2019 की पहली गुप्त नवरात्रि – माघ गुप्त नवरात्र 2019, 5 से 14 फरवरी तक है। माघ गुप्त नवरात्र (Magh Gupt Navratri 2019) का अपना भी अपना खास महत्व होता है। माघ गुप्त नवरात्र में भी मां दुर्गा के सभी रूपों की अलग-अलग आराधना की जाती है। माघ गुप्त नवरात्र में मां शक्ति के स्वरुपों के अलावा दस महाविद्या को भी पूजा जाता है। गुप्त नवरात्र में मुख्य तौर पर तंत्र साधना की जाती है।

ये पढ़ेंTil Chaturthi 2019: ‘तिल चतुर्थी’ सकट चौथ व्रत की विधि, मुहूर्त, कथा और महत्व

Magh Gupt Navratri 2019 Dates

माघ  गुप्त नवरात्रि 2019 शुक्ल पक्ष के प्रतिपदा मंगलवार यानि 5 फरवरी से शुरू होंगे, इस दिन घट स्थापना की जाएगी और इसके बाद ये गुप्त नवरात्र 14 फरवरी, 2019 को संपन्न होंगे।

गुप्त नवरात्रि में मां दुर्गा के 10 महाविद्याओं की होती है पूजा

गुप्त नवरात्रि के नौ दिनों में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की बजाय दस महाविद्याओं की पूजा की जाती है। मां दुर्गा के इन दस महाविद्या के स्वरुप में है – मां कालीमां तारा देवी, मां त्रिपुर सुंदरी, मां भुवनेश्वरी, मां छिन्नमस्ता, मां त्रिपुर भैरवी, मां धूमावती, मां बगलामुखी, मां मातंगी और मां कमला देवी। इस नवरात्र में में तंत्र और मंत्र दोनों के माध्यम से भगवती की पूजा की जाती है।

मां दुर्गा के नौ स्वरूप – शैलपुत्रीब्रह्मचारिणीचंद्रघंटाकुष्मांडास्कंदमाताकात्यायनीकालरात्रिमहागौरीसिद्धिदात्री है।

गुप्त नवरात्र पूजन विधि

  • गुप्त नवरात्र में मां भगवती की साधना गुप्त रूप से देर रात में की जाती है।
  • मूर्ति स्थापना के बाद मां दुर्गा को लाल सिंदूर, लाल चुन्नी चढ़ाई जाती है।
  • आद्या शक्ति की इस साधना में लाल रंग के फूल, लाल सिंदूर और लाल रंग की चुनरी का प्रयोग करें।
  • नारियल, केले, सेब, तिल के लडडू, बताशे चढ़ाएं।
  • तन और मन से पवित्र होकर माता की विधि-विधान से फल-फूल आदि चढ़ाने के पश्चात् सरसों के तेल का दीपक जलाएं
  • दुं दुर्गायै नमः मंंत्र का जाप करें।
  • गुप्त नवरात्रि और मंगलवार का योग, घर की सुख-समृद्धि के लिए हनुमानजी के सामने बोलें ऊँ सीताशोक विनाशकाय नम:।

गुप्त नवरात्र महत्व

5 फरवरी मंगलवार से माघ गुप्त नवरात्र शुरू हो रहे हैं। कई साल बाद अद्भुत संयोग बना है। शुभ माघ महीने का पहला मंगलवार है, शुक्ल पक्ष शुरू हुआ है, मां दुर्गा शुक्ल पक्ष में जागृत हो रही हैं, अर्ध कुंभ का मेला भी चल रहा है, कल्याणकारी चंद्रमा कुंभ राशि में हैं- ये बहुत लाभकारी शुभ योग है। मंगलवार से देवी आराधना का नौ दिवसीय पर्व शुरू होने से इस दिन का महत्व काफी बढ़ गया है।

मंगल का धनिष्ठा नक्षत्र हैमां मंगला आपकी हर गुप्त मनोकामना पूरी करेंगी। धन, ऐश्वर्या, सुख और शांति मिलेगी। आप पर अगर कोई संकट है तो वो सब दूर हो जाएंगे। आपकी हर गुप्त मनोकामना पूरी होगी।

नाम के अनुसार इस गुप्त नवरात्र में की जाने वाली शक्ति की साधना के बारे में जहां कम लोगों को ही जानकारी होती है, वहीं इससे जुड़ी साधना-आराधना को भी लोगों से गुप्त रखा जाता है। मान्यता है कि साधक जितनी गुप्त रूप से देवी की साधना करता है, उस पर भगवती की उतनी ही कृपा बरसती है।

यह भी पढ़ें: तीसरा नवरात्र का महत्‍व- माँ चंद्रघंटा को प्रसन्न करने का मंत्र, पूजा विधि, भोग व आरती

Magh Gupt Navratri 2019 की हार्दिक शुभकामनाएं !!

Connect with us for all latest updates also through FacebookDo comment below for any more information or query on Magh Gupt Navratri 2019.

(इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

(Image Courtesy: Zee News)

About the author

Leave a Reply