हिंदू धर्म में आषाढ़ मास की अमावस्या, भौमवती अमावस्या का बहुत महत्व माना जाता है. पितृदेव अमावस्या तिथि के स्वामी हैं। इस दिन पितरों की तृप्ति के लिए तर्पण, दान-पुण्य का महत्व है। मंगलवार को पड़ने वाली आषाढ़ी अमावस्या को भौमवती अमावस्या (हलहारिणी अमावस्या) कहा जाता है। Bhaumvati Amavasya 2019 par क्या kare
Culture Dharmik

जानें भौमवती अमावस्या का महत्व, कैसे मिले पितरों का आशीष

Bhaumvati Amavasya 2019: हिंदू धर्म में आषाढ़ मास की अमावस्या, भौमवती अमावस्या का बहुत महत्व माना जाता है। धार्मिक मान्यता है कि अमावस्या तिथि के स्वामी पितृदेव हैं, इसलिए इस दिन पितरों की तृप्ति के लिए तर्पण, दान-पुण्य का महत्व है। धर्म ग्रंथों के अनुसार इस मंगलवार को पड़ने वाली आषाढ़ी अमावस्या को भौमवती अमावस्या (हलहारिणी अमावस्या) कहा जाता […]