Chaitra 2020: हिंदू कैलेंडर का पहला महीना चैत्र, जानिए चैत्र महीने में कौन-कौन से प्रमुख व्रत त्योहार आएँगे, चैत्र 2020 कब है, चैत्र का महत्व, Gangore 2020, Rajasthan Famous festivals
Culture Dharmik Festivals

Chaitra 2020: हिंदू कैलेंडर का पहला महीना चैत्र, जानिए चैत्र माह के प्रमुख व्रत-त्यौहार और महत्व

Chaitra 2020: हिंदू धर्म में चैत्र महीने का धार्मिक और सांस्कृतिक रूप से बहुत अधिक महत्व है। चैत्र महीने से विक्रम संवत और राष्ट्रीय नववर्ष शक् संवत् का आरंभ होता है और हिन्दू धर्म के कई बड़े पर्व मनाए जाते हैं।  हिंदू धर्म में चैत्र का महीना बहुत ही शुभ और पवित्र महीना माना गया है।

हिन्दू कैलेंडर शक संवत का पहला महीना चैत्र और अंतिम महीना फाल्गुन, दोनों ही बहुत ही खूबसूरत महीने माने जाते हैं। ऋतुओं में से ऋतुराज, बसंत ऋतु इन्हीं दो महीनों मे होती है। इन महीनों में जन-जीवन में भी एक नई ऊर्जा, उत्साहउल्लास का संचार होता है।


हिन्दू नववर्ष (विक्रम संवत) का प्रारंभ चैत्र शुक्ल की पहली तिथि से होता है। चैत्र महीने में हिन्दू धर्म के कई बड़े व्रत-त्यौहार मनाए जाते हैं जिनमे सबसे बड़ा पर्व चैत्र नवरात्रि है, जिसमे मनोकामना पूर्ति के लिए देवी दुर्गा की आराधना की जाती है। आइए जानते हैं चैत्र के महीने में कौन-कौन से प्रमुख व्रत त्योहार, चैत्र 2020 कब है, चैत्र का महत्व

When is Chaitra 2020?

हिंदू वर्ष का अंतिम महीना फाल्गुन के बाद चैत्र का महीना लगता है। अंग्रेजी कलैंडर के अनुसार 2020 में चैत्र मास का आरंभ 10 मार्च 2020, मंगलवार से हुआ हैं जो कि 08 अप्रैल 2020, बुधवार को चैत्र पूर्णिमा तक रहेगा। चैत्र मास की पूर्णिमा चित्रा नक्षत्र में होती है इसी कारण इस महीने का नाम चैत्र पड़ा।

चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को देश के विभिन्न हिस्सों में अलग-अलग नामों से नववर्ष मनाया जाता है।

चैत्र महीने की पौराणिक मान्यता

मान्यता है कि सृष्टि के रचयिता भगवान ब्रह्मा ने चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा से ही सृष्टि की रचना आरंभ की थी। वहीं सतयुग की शुरुआत भी इसी माह से मानी जाती है।

पौराणिक कथाओं  के अनुसार चैत्र महीने की प्रतिपदा को भगवान विष्णु के दशावतारों में से पहले अवतार मतस्यावतार अवतरित हुए और जल प्रलय के बीच घिरे मनु को सुरक्षित स्थल पर पंहुचाया था। प्रलयकाल के समाप्त होने पर मनु से ही नई सृष्टि का प्रारंभ हुआ था।

ये पढ़ेंजानिए आमलकी एकादशी व्रत-पूजा विधि, शुभ मुहूर्त, महत्व और व्रत कथा

चैत्र महीने के व्रत-त्यौहार

  • होली (रंग खेलने वाली होली), धुलेंडी  – 10 मार्च 2020 दिन मंगलवार को है।
  • रंग पंचमी – 13 मार्च, दिन शुक्रवार को है।
  • शीतला सप्तमी – 15 मार्च 2020 दिन रविवार को है।
  • शीतला अष्टमी, बसोड़ा एवं कालाष्टमी – 16 मार्च 2020 दिन सोमवार को है ।
  • दशा माता vrat – दशा माता की आराधना व व्रत उपवास का विधान 18 March, दिन बुधवार को है ।
  • पापमोचिनी एकादशी – 19 मार्च दिन गुरुवार, को चैत्र माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी है।
  • चैत्र अमावस्या,  चंद्रवर्ष संवत 2076 समाप्त – 24 मार्च दिन मंगलवार को  है।
  • चैत्र नवरात्रि आरंभ, कलश स्थापना, गुड़ी पड़वा, हिन्दू नववर्ष विक्रम संवत 2077 प्रारंभ – 25 मार्च दिन बुधवार
  • पूज्य झूलेलाल जयन्ती, चेटीचंड, सिंधारा दौज  – 26 मार्च, दिन गुरुवार को  है।
  • गणगौर पूजा, गौरी पूजा – 27 मार्च दिन शुक्रवार को है।
  • श्री गणेश दमनक चतुर्थी – 28 मार्च, शनिवार
  • राम नवमी, दुर्गा नवमी – 02 अप्रैल दिन गुरुवार को है।
  • कामदा एकादशी – चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी, 04 अप्रैल दिन शनिवार को है।
  • महावीर जयंती  – 06 अप्रैल दिन सोमवार को है।
  • हनुमान जयंती, चैत्र पूर्णिमा – 08 अप्रैल दिन बुधवार को हनुमान जन्मोत्सव है।

Chaitra 2020 की हार्दिक शुभकामनाएं !!

Connect with us through Facebook also for regular updates on DharmaDo comment below for any more information or query on Chaitra 2020 Fast and Festivals and also, if we missed out some.

About the author

Leave a Reply