Holi 2020: होली के रंगों का महत्व, रंगों को त्वचा से हटाने के आसान तरीके, what To Avoid in Holi, How to Keep Safe while Playing Holi, Dhulandi 2020
Culture Dharmik Festivals

Holi 2020: होली में रंगों का महत्व, त्वचा से रंगों को हटाने के आसान तरीके


Holi 2020: रंगोत्सव होली का त्योहार..प्यार का त्यौहार..गिले शिकवे भूल सब पर प्यार लुटाने का त्यौहार। Holi, a Hindu spring festival of love, frolic, and colors will be celebrated on March 10, 2020, next day of Holika Dahan (होलिका दहन). Holi festival provides an occasion to reset and renew ruptured relationships, end conflicts and rid themselves of accumulated emotional past impurities. It is also celebrated as a thanksgiving for a good harvest.

It is known as a festival of colors as people smear Gulal (Pigmented Powder) and color on each other’s faces to express their joy and happiness. होली वैसे तो सब ही लोगों का पसंदीदा त्योहार है लेकिन मुख्य रूप से बच्चों को रंग खेलने में काफी मजा आता है। हालांकि, इस साल कोरोनावायरस (Coronavirus) के कारण हमे थोड़ी अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है ताकि किसी तरह का नुकसान न पहुंचे।


तो चलिए आपको बताते हैं होली पर खेले जाने वाले रंगों का महत्व, होली के रंगों को हटाने के आसान तरीके, Things To Avoid in Holi इत्यादि के बारे में –

होली पर खेले जाने वाले रंगों का महत्व

होली रंगों का त्योहार है और इस पर्व पर हर रंग का अपना महत्व है। रंगों का मनुष्य के शरीर से नहीं उसकी मनः स्थिति से भी गहरा रिश्ता है। वे शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर अपना प्रभाव डालते हैं। साथ ही धार्मिक, आध्यात्मिक और वैज्ञानिक दृष्टि से भी इन रंगों का विशेष महत्व है। होली खेलते समय यदि रंगों का उपयोग अपने अनुसार किया जाए तो इससे सफलता, सुख-समृद्धि आती है। आइए, जानते हैं इनके बारे में –

  • लाल  – लाल रंग उल्लास और शुद्धता का प्रतीक है। लाल रंग का प्रयोग हर शुभ अवसर पर किया जाता है। लाल रंग अग्नि का द्योतक है और ऊर्जा, गर्मी और जोश का प्रवाह करता है।

ये पढ़ेंहिंदू पंचाग का पहला माह चैत्र, जानिए प्रमुख व्रत-त्यौहार और महत्व

  • पीला – पीला रंग ज्योति का पर्याय माना जाता है। इसको देखने से मन में प्रकाश, ज्ञान का आभास होता है। इसका मस्तिष्क पर सीधा प्रभाव पड़ता है और मन अध्यात्म की ओर उन्मुख हो जाता है। देवी-देवताओं को अधिकतर पीला वस्त्र ही पहनाया जाता है। पीला रंग आरोग्य, शांति, सुकून, योग्यता, ऐश्वर्य और यश को इंगित करता है।
  • हरा – यह आत्मविश्वास, प्रसन्नता और शीतलता पहुंचाने वाला रंग है। यह रंग मन की चंचलता को दूर कर संतुलित और सहज रखता है। हरा रंग जीवन का द्योतक है। यह तनाव दूर कर, नाड़ी संबंधी रोगों, लिवर, आंत के रोगों एवं रक्त शोधन के लिए महत्वपूर्ण है। इसे बुद्धि का रंग भी कहा जाता है। हरा रंग सौभाग्य और समृद्धि का भी सूचक है।
  • नीला – नीला रंग गंभीर, कोमलता, विश्वास, स्नेह, वीरता, पौरुषता और स्थिरता का संकेतक है। जल और वायु का रंग नीला माना गया है, इस लिहाज से यह रंग प्राण और प्रकृति से संबंधित है। नीला रंग पूर्णता को इंगित करता है। यह रंग मानसिक शांति प्रदान करता है और रक्तचाप को भी नियंत्रित करता है।
  • नारंगी रंग – यह रंग प्रसन्नता और सामाजिकता का घोतक है। वे लोग जो अपने सामाजिक संबंधों की उष्मता को बनाए रखना चाहते हैं, नारंगी रंग पसंद करते हैं। इस रंग का अधिक उपयोग करने वाले व्यक्ति विचारवान होते हैं। इससे मानसिक शक्ति को भी वढ़ावा मिलता है।
  • बैंगनी रंग – इस रंग का अधिक प्रयोग व्यक्ति को परिष्कृत अभिरुचियों की ओर संकेत करता है। यह रंग कल्पना प्रधान है। प्राचीन काल में यह रंग धैर्य और बलिदान के लिए उपयोग में लाया जाता है। यह प्रायश्चित और तप का भी प्रतीक माना गया है।

ये भी पढ़ें: जानिए आमलकी एकादशी व्रत-पूजा विधि, शुभ मुहूर्त, महत्व और व्रत कथा

होली के रंगों को हटाने के आसान तरीके

होली रंगों का त्यौहार है। इस त्यौहार को सभी धूमधाम से मनाते हैं। होली के रंगों को लगाने में जितना मज़ा आता है, उतनी ही तकलीफ रंगों में रसायन (Chemicals) मिले होने की वजह से इसे त्वचा से छुड़ाना में आता है।

बाज़ारों में मिलने वाले केमिकल से भरे रंग एक बार में त्वचा से नहीं हटते, जिसकी वजह से आपको Skin problems भी हो सकती है। Skin Problems से बचने और त्वचा से आसानी से रंग हटाने के लिए आप कुछ घरेलू चीजों की मदद ले सकते हैं। इससे रंग भी आसानी से उतर जाता है और आपकी त्वचा को कोई नुकसान भी नहीं पहुंचता है। तो आइए आपको इन आसान Tips के बारे में बताते हैं –

1. रंगों को गर्म पानी से नहीं बल्कि ठंडे पानी से हटाएं।

2. बालों को सीधा शैंपू ना करें बल्कि उनमें दही या अंडे का सफेद हिस्सा लगाएं और फिर 1 घंटे बाद शैम्पू करें। अंडा या दही नहीं लगा सकें तो बालों को नारियल के दूध से धोएं फिर शैम्पू करें।

3. गेहूं के आटे में तेल या नींबू का रस मिलाएं और पतला पेस्ट बनाएं। नहाने से पहले इसे अपनी skin पर मलें, ऐसा करने से रंग जल्दी उतर जाएगा।

4. रंग हटाने के लिए स्किन और बालों को बार-बार ना धोएं। रंग हटाते समय त्वचा को बार-बार ना धोएं इससे आपकी त्वचा शुष्क हो सकती है। रंग हटाने के लिए भीगे हुए अमचूर पाउडर का इस्तेमाल करें।

5. गर्दन या हाथों से रंग हटाने के लिए बेसन, दही और हल्दी को मिक्स कर पेस्ट बनाकर 15 मिनट तक चेहरे पर लगा लें। 15 मिनट बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

6. मुल्तानी मिट्टी और गुलाब जल मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को लगाकर सूखने दें। यह पेस्ट केमिकल की वजह से होने वाली जलन को कम करता है।

7. चेहरे का रंग हटाने के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल करें।

8. होली के रंगों को हटाने के लिए किसी भी तरह का फेशियल या ब्लीच ना कराएं।

9. सिल्वर या गोल्डन गीले रंग लगे तो उसी वक्त साफ पानी से मुंह धो लें।

10. नाखूनों पर रंग हटाने के लिए टूथपेस्ट को नाखूनों पर रगड़े।

11. त्वचा को नुकसान ने बचाने के लिए एलोवेरा लगाना बहुत फायदेमंद होता है। यह त्वचा से गंदगी हटाने के साथ कलर साफ करने में मदद करता है।

READ Too: Jodhpur ‘An Education Hub’, Check Top Educational Institutes In Jodhpur

Things To Avoid In Holi 2020

Play friendly and safe Holi, avoid making it rough and rowdy.

  • Discourage the use of eggs, mud, tar or gutter water while playing Holi. It’s never safe to play Holi with such things.
  • Do not apply harmful colors on the face of anyone.
  • Do not run or jump on the wet floors as this can be dangerous.
  • Play Holi with known people such as family and friends instead of unknown ones.
  • Avoid hard drinks like liquor or even bhang, which is very harmful.

How to Keep Yourself and Kids Safe While Playing Holi

1. होली खेलते वक्त धूप में अधिक देर रहने के कारण आपके बाल रूखे हो सकते हैं, ऐसे में बालों की नमी खो सकती हैं। इसलिए रंग खेलने के लिए जाने से पहले बालों में अच्छी तरह से तेल लगा लें।

2. रंग खेलते वक्त नाखुनों पर काफी रंग लग जाता है जो जल्दी से नहीं हटता, इस वजह से रंग को हाथ लगाने से पहले हाथों पर भी तेल लगा दें।

3. रंग के कारण बच्चों की कोमल त्वचा काफी संवेदनशील हो जाती है। इस वजह से रंग खेलने के बाद उन्हें 2 बार से ज्यादा न नहाने दें और अंत में उन्हें मॉइस्चराइजर जरूर लगाएं, ताकि उनकी त्वचा रूखी न हो।

4. चेहरे से रंग हटाने के लिए चेहरों को अधिक न रगड़ें। ऐसा करने से त्वचा काफी रूखी हो जाती है।

5. हो सके तो होली खेलने के लिए बच्चों को अधिक लोगों के बीच न ले जाएं और घर में ही कुछ दोस्तों और भाई-बहनों के साथ खेलने दें। ऐसे में आप अपने बच्चों पर नजर रख पाएंगे।

राधा का रंग और कान्हा की पिचकारी
प्यार के रंग से रंग दो दुनिया सारी
रंग बरसे नीले हरे लाल,
मुबारक हो आपको होली का त्यौहार।
Holi 2020 की हार्दिक शुभकामनाएं …होली रा राम राम सा !!

AapnoJodhpur team wishes You and Your Family a Happy and Colourful HOLI 2020. May your life be filled with happiness and may you be successful in whatever you do.

Also, Connect with us through Facebook and follow us on Twitter for regular updates on Dharma, Hindu Tradition, Fasts & Festivals and SpiritualityDo comment below for any more information or query on Holi 2020.

About the author

Leave a Reply