Rajasthan Elections 2018: 320 with Criminal Cases, 597 Crorepati and 12 Illiterate Candidates Rajasthan Assembly election 2018 know your candidate
Events News

Rajasthan Elections 2018: 320 with Criminal Cases, 597 Crorepati and 12 Illiterate Candidates


Rajasthan Elections 2018 polling date is 07 December 2018 and its high time for voters to choose best for them. According to the Rajasthan Election Watch (REW) and the Association for Democratic Reforms (ADR), More candidates with criminal and serious criminal cases are contesting the Rajasthan elections 2018 than the election held in 2013.

ADR and REW have released a report related to the education qualification, Criminal records and Assets of the candidates contesting Rajasthan assembly election 2018. They analyzed the self-sworn affidavits of 2,188 out of the 2,294 candidates contesting the elections. The affidavits of 106 candidates were not analysed properly as they were “either badly scanned or having incomplete information or affidavits were not uploaded properly on the election commission website”.


According to the report released on Tuesday by ADR head Maj Gen (retd) Anil Verma and Renuka Pamecha on Tuesday, the percentage of contenders with a criminal background has risen by 4 per cent in comparison to the last assembly election held in the state.

READ Too: जोधपुर महासंग्राम- विधान सभा चुनाव 2018 का महारण

Rajasthan Elections 2018 ADR Report

Criminal Records of Contenders

320 (or 15%) candidates have declared criminal cases pending against them while 195 (or 9%) have declared serious criminal cases registered against themselves. Serious criminal case include those with a provision of maximum punishment of 5 or more years, non-bailable offences, electoral offences and other serious cases.

एडीआर के अनुसार प्रदेश में ऐसे 48 विधानसभा क्षेत्र हैं जहां 3 या इससे ज्यादा उम्मीदवारों ने खुद पर आपराधिक मामले घोषित किए। इस बार के चुनावो में कांग्रेस, बीजेपी, बसपा और आप सहित कई दलों ने आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को टिकट देने से परहेज नहीं किया है।

Congress has fielded the maximum candidates with criminal cases (43 of the 193 candidates analysed) as well as those with serious criminal cases (27).

The Bharatiya Janata Party (BJP) has fielded 33 (out of 198) candidates with criminal cases and 21 with serious criminal cases.

Among the other major parties, the Aam Aadmi Party (AAP)’s 26 of the 141 candidates have criminal cases and 16 serious criminal cases against themselves; the Bahujan Samaj Party (BSP) has 31 of its 178 candidates with criminal cases and 20 with serious criminal cases.

इसमें कांग्रेस ने जहां सबसे ज्यादा 22 प्रतिशत आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को टिकट दिया है तो वहीं बीजेपी ने 17 प्रतिशत, आम आदमी पार्टी ने 18 और बसपा ने 17 प्रतिशत आपराधिक पृष्ठभूमि वाले उम्मीदवारों को चुनाव में टिकट दिया है।

यह भी पढ़े: Priyanka Chopra Wedding: Jodhpur Is All Set To Welcome Groom Nick Jonas

The Crorepati Candidates

बात अगर करोड़पति उम्मीदवारों की करे तो इस बार चुनावों में 597 करोड़पति उम्मीदवार है। जमींदार पार्टी की कामिनी जिंदल (287 crore) सबसे अमीर प्रत्याशी के तौर पर गंगानगर से चुनावी मैदान में है। दूसरे नंबर पर कांग्रेस के धोद से प्रत्याशी परसराय मोरिदया (172 crore) और अमीर प्रत्याशियों की लिस्ट में तीसरे नंबर पर नीमकाथाना से बीजेपी प्रत्याशी प्रेम सिंह बाजौर (142 crore) है।

करोड़पति प्रत्याशियों की लिस्ट मे सबसे ज्यादा उम्मीदवार बीजेपी के है। पार्टी ने इस बार 160 करोड़पति को प्रत्याशी बनाया है। कांग्रेस पार्टी में 149 करोड़पति प्रत्याशी, बसपा में 40, आरएलपी में 19 और आप में 25 करोड़पति प्रत्याशी है। 9 उम्मीदवारों ने अपनी संपत्ति शून्य घोषित की है। उम्मीदवारों की औसतन संपत्ति 2.12 करोड़ रुपए है। प्रेम सिंह बाजौर, ममता शर्मा और अशोक परनामी ने आयकर विवरण में सबसे ज्यादा सालाना आय घोषित की है।

शैक्षिक योग्यता

इस बार के विधानसभा चुनावों में 1034 ऐसे उम्मीदवार है जिनकी शैक्षिक योग्यता 5 वीं और 12 वीं के बीच है। 943 ऐसे भी प्रत्याशी है जो स्नातक या इससे ज्यादा शिक्षित है। चुनावों में 12 प्रत्याशी ऐसे है जो निरक्षर है।

182 महिलाएं चुनाव मैदान में 

राजस्थान प्रदेश  विधानसभा चुनाव में इस बार 182 महिलाएं भी चुनावी मैदान में है। महिलाओं को राजनीती में 33 फीसदी आरक्षण का वादा कांग्रेस भाजपा जैसी मुख्य पार्टियों ने एक बार फिर से पूरा नहीं किया।

READ ALSO: 19th Jodhpur Polo Season 2018 Begins From November 25

Connect with us for all latest updates also through FacebookLet us know for any query or comments. AapnoJodhpur urged the voters to access the affidavits of the candidates before voting and Do cast Your vote positively to strengthen Democracy. Do comment below.

About the author


Leave a Reply